≡ Menu

2019 के पहले भाजपा को झटका, भाजपा अध्यक्ष ने आलाकमान को सौपा इस्तीफ़ा क्योंकि…!

2019 के चुनाव की तैयारी बीजेपी ने जोरो शोरो से शुरू कर दी है जिसके लिए पार्टी में कुछ फेरबदल भी होंगे| भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओ को अभी से 300 से ऊपर का टारगेट दे दिया है| उत्तर प्रदेश में कुछ ख़ास ही तैयरी करनी पड़ेगी इस बार बीजेपी को क्योकि सपा और बसपा से उसकी टक्कर पहले भी हो चुकी है|source

चुन्नाव की तैयारी की शुरुवात हुई भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के इस्तीफ़े के साथ| भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने अपना इस्तीफ़ा अमित शाह को भेज दिया है| यह इस्तीफ़ा परिवर्तन के साथ साथ पार्टी को करारा झटका भी है|

प्रदेश अध्यक्ष के इस्तीफे से पार्टी को लगा झटका, तैयार करनी पड़ेगी नयी रणनीतिsource

आंध्र प्रदेश की राजनीति में भारतीय जनता पार्टी को तगड़ा झटका लगा है| राज्य में भाजपा के वरिष्ठ नेता और विशाखापट्नम सांसद हरी बाबु  ने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया है| उन्होंने अपना इस्तीफ़ा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को भेज दिया है| बीजेपी सूत्रो का कहना है की तेलगु दसम पार्टी के एनडीए से अलग होने के बाद किसी बड़े परिवर्तन की आशंका थी|अब भाजपा ने आंध्र प्रदेश में अपनी ताकत बढाने के लिए एक नई रणनीति तैयार की है|

तो इन्हें बनाएगी बीजेपी अपना नया प्रदेश अध्यक्षsource

भाजपा के सूत्रों के अनुसार विधायक एमएलसी सोमू वीरराजू, पूर्व मंत्री पी मानिकला राव, यूपीए सरकार में पूर्व कांग्रेस नेता काना लक्ष्मीनारायण और पूर्व केंद्रीय मंत्री डी पुरंदारेश्वरी का नाम प्रदेश अध्यक्ष बनने की दौड़ में शामिल है| इनमे से दो नेता लक्ष्मीनारायण और पुरंदारेश्वरी ने 2014 में कांग्रेस छोड़ बीजेपी के पाले में चले गये थे| लेकिन सबसे ज्यादा सम्भावना कापू समुदाय से आने वाले वीराराजू के अद्यक्ष बनने की ज्यादा है क्योकि बीजेपी वह कापू समुदाय के लोगो को लुभाना चाहती है| इसके अलावा सूत्रों का यह भी मानना है की हरी बाबु को केंद्र में कोई दूसरा पद भी दे सकते है|

नोट: 2019 के चुनाव में यह रणनीति कितनी कारगर साबित होगी? अपनी राय हमे ज़रूर बताये!

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment