≡ Menu

जो अन्ना कांग्रेस काल में EVM घोटाले पर जमकर बरसे थे वीडियो में देखें वही अन्ना अब बीजेपी काल में गायब हो चले है

अन्ना का ये दोगला चेहरा देख ये तो साफ़ हो गया है कि जब तक BJP केंद्र में है तब तक तो अन्ना सुर्ख़ियों से और प्रदर्शनों से दूर ही रहने वाले है 

किसी को याद हो न हो लेकिन दिल्ली की जनता शायद यह भूल नहीं पाई है कि कांग्रेस की सरकार के सत्ता में रहते हुए अन्ना हजारे ने उनके खिलाफ खूब दमदार प्रदर्शन किये, अनशन कियेl देश के नये बापू- गाँधी के रूप में प्रसिद्ध हुए अन्ना हजारे ने 2012 में लोकपाल आंदोलन चलाया था | अन्ना हजारे ने लोकपाल बिल पास कराने के लिए क्या कुछ नहीं किया था कई दिनों तक जंतर-मंतर पर भूखे –प्यासे रहकर अनशन किया |

Video : एक SMS से भी Hack हो सकती है EVM मशीनें – BJP नेताओं ने भी उठाये है सवाल

लेकिन अभी 3 साल हो गये है उसी अन्ना को और वो तो जैसे राजनीती से गायब ही हो गये है और जब से भारतीय जनता पार्टी की सरकार सत्ता में आई है वो तो जैसे एकदम से चुप हो गयेl दिल्ली की जनता इस बात को शायद पचा नहीं पा रही कि बीजेपी सरकार को केंद्र में तीन साल हो चुके है ऐसे समय भी अन्ना हजारे गायब ही है और कहीं भी नजर नहीं आते हैl जो आरोप वो 3 साल पहले कांग्रेस काम में लगाते आये थे और जनता ने जिस वायदे के साथ उनका समर्थन किया उसी मुद्दे को अगर याद करे तो भाजपा की सरकार ने भी लोकपाल बिल पास नहीं करवाया, लेकिन अब अन्ना हजारे को शायद फर्क पड़ता नहीं दिख रहा है वही एना अब आंदोलन नहीं कर रहे है और ना ही अन्ना हजारे लोकपाल बिल के लिए कोई आंदोलन और अनशन कर रहे हैl

इसके अलावा अब सोशल मीडिया में भी दबी जुबान में ही सही लेकिन अन्ना हजारे को आरएसएस और बीजेपी का दलाल कह दियाl लोगों की मांग पर अगर गोर किया जाए तो बात काफी हद तक सही साबित भी होती दिखाई देती है क्योंकि ये महज इतिफाक भर तो नहीं कि जहाँ अन्ना के नतृत्व में कांग्रेस काल में लोकपाल का मुद्दा उठाया और एक के बाद एक कई जमकर आंदोलन किये लेकिन वहीं भाजपा की सरकार आने पर तो लोकपाल पर कोई आंदोलन नही हुआ और न ही नोटबंदी पर भी अन्ना ने कुछ बोला, यह संकेत काफी कुछ बयाँ करता है उसी के साथ ये सवाल उठाना लाजमी है कि कही अन्ना हजारे भी बीजेपी के साथ तो नहीं मिले हुए है…!

देखें वीडियो और खुद फैसला ले कि कौन-से अन्ना देशभक्त है कांग्रेस काल के या जो अब बीजेपी काल में शांत बैठे है वो …:-

हमने सोशल मीडिया को खंगालने की कोशिश की जिसके बाद हमारे सामने अन्ना हजारे का एक करीब 6 साल पुराना एक ऐसा वीडियो सामने आया जिसमें आप साफ़ देख सकते है कि अन्ना कांग्रेस पार्टी के दौरान हुए EVM मशीन के घपले के खिलाफ थे और उस दौरान जब सत्ता में कांग्रेस थी तो बीजेपी ही महज एक एकलौती विपक्षी पार्टी थी जो अन्ना के साथ कांग्रेस पर EVM को लेकर गड़बड़ी का आरोप लगा रही थीl लेकिन आज जब मोदी सरकार में क्या विपक्ष क्या आम जनता सब लोग EVM पर सवाल उठा रहे है इसमें होने वाली गड़बड़ियों का खुलासा कर रहे हैl ऐसे में अन्ना हजारे बीजेपी का समर्थन करते हुए नजर आ रहे है और कथाकथित तौर पर ईवीएम के लिए बीजेपी का समर्थन करने के लिए अब फिर से अन्ना हजारे मैदान में उतर चुके हैl

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment