≡ Menu

जानिये UP उपचुनावों में BJP की हार के क्या हैं मायने … !

उत्तरप्रदेश के 2 और बिहार के तीन सीटों पर उपचुनाव के नतीजे सामने आ गये हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव से अहम् पहले हुए इस चुनाव को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है. जहां एक तरफ कुछ लोग देश में मोदी लहर की बात कर रहे थे वहीँ उपचुनाव के नतीजों ने सबको हैरान कर दिया है.

उत्तर प्रदेश के दो सीटों में फूलपूर और गोरखपुर में सबसे महत्वपूर्ण गोरखपुर सीट को माना जा रहा था लेकिन गोरखपुर जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सांसद थे वहां से बीजेपी हार गयी है यहीं नही बीजेपी सिर्फ हारी ही नही है बल्कि काफी मतों से पीछे भी है. इसके साथ ही उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या की भी सीट बीजेपी हार गयी है वहीँ बुआ भतीजे की जोड़ी ने कमाल दिखाया और दोनों सीट पर जीत दर्ज कर चुकी है.

इस जीत के कई मायने लगाए जा रहे हैं ! इन नतीजों ने सपा, बसपा के साथ – साथ दुसरे विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं में भी जोश की लहर दौड़ा दी है ! विपक्षी पार्टियों को भी एक ज़बरदस्त सन्देश मिला है की एक साथ अगर लड़ें तो BJP को टक्कर दी जा सकती है ।

इसके साथ ही अखिलेश यादव और मायावती की जोड़ी ने भारतीय जनता पार्टी के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी कर दी है । आपको बता दें कि गोरखपुर को बीजेपी का गढ़ माना जाता है वहां से बीजेपी का हारना 2019 लोकसभा चुनाव में किसी बड़े बदलाव का संकेत हैं?

बीजेपी की हार से समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं में काफी ख़ुशी का माहौल हैं. इसके साथ लाल टोपी पहने कार्यकर्ताओं ने बसपा के समर्थन में और हाथ में हाथी निशान का झंडा लेकर सपा ज़िंदाबाद के नारे करते दिखाई दिए. इसके साथ इन कार्यकर्ताओं ने एक नया नारा दिया है- बुआ-भतीजा ज़िंदाबाद !

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment