≡ Menu

पहले गवर्नर ने सैलाए थे गाल और अब BJP के इस दिग्गज ने महिला पत्रकार पर लगाया नेताओं के साथ सोने का आरोप

जहा एक तरफ देश रेप केसेस की आग से उबल रहा है वही दूसरी तरफ बीजेपी खेमे से एक के बाद एक शर्मनाक बयान सामने आ रहे है|हाल ही में तमिलनाडु के गवर्नर बनवारी लाल पुरोहित ने चेन्नई में एक प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की थी लेकिन महिला पत्रकार के सवाल पूछते ही उन्होंने जवाब देने के बजाय उसके गाल को सहलाया|source

गवर्नर की इस हरकत से पूरा मीडिया बौखला गया, हालाँकि गवर्नर ने माफ़ी भी मांगी लेकिन मामला ठंडा नही हुआ| इस घटना के बाद एक और वरिष्ठ बीजेपी नेता सामने आये और उन्होंने तो अभद्रता की सारी हदे ही पार कर दी| बीजेपी नेता ने महिला पत्रकारों को लेकर कही बहुत ही गंदी बात|

फेसबुक पोस्ट शेयर किया जिसमे लिखा था महिला पत्रकार बड़े लोगो के साथ सोती है

महिला पत्रकार के गाल सहलाने की घटना के एक दिन बाद वरिष्ठ बीजेपी नेता एस वी शेखर ने गुरुवार को एक विवादास्पद फेसबुक पोस्ट शेयर किया। इसमें महिला पत्रकारों को लेकर अभद्र टिप्पणियां थीं। इस फेसबुक पोस्ट का शीर्षक था, ‘मदुरई यूनिवर्सिटी, गवर्नर एंड द वर्जिन चीक्स ऑफ ए गर्ल।’ इस पोस्ट में दावा है कि कोई भी महिला बड़े लोगों के साथ सोए बिना न्यूज रीडर या रिपोर्टर नहीं बन सकती।

बीजेपी नेता ने सोशल मीडिया पर शेयर की पोस्ट

फेसबुक पोस्ट में लिखा है, “हाल ही में की गई शिकायतों से कड़वी सच्चाई बाहर आ चुकी है। इन (गाली) महिलाओं ने गवर्नर पर सवाल उठाए हैं। मीडिया के लोग तमिलनाडु के तुच्छ, नीच और असभ्य जन हैं। कुछ अपवाद हैं। मैं सिर्फ उनकी इज्जत करता हूं, अन्यथा तमिलनाडु का पूरा मीडिया अपराधियों, धूर्तों और ब्लैकमेलर्स के हाथ में है।” शेखर ने फेसबुक पोस्ट की शुरुआत में इसका क्रेडिट ‘थिरूमलाई एस’ नाम के शख्स को दिया है। शेखर ने द इंडियन एक्सप्रेस से बताया कि थिरूमलाई अमेरिका में एक ‘धुर बीजेपी समर्थक’ है।source

उन्होंने बताया, “अमेरिका जाने के दौरान मेरी उनसे मुलाकात हुई। उन्होंने मुझे बताया कि वह पीएम नरेंद्र मोदी के समर्थक हैं।” शेखर ने आगे कहा, “शेयर करने से पहले मैंने पोस्ट पूरी तरह से नहीं पढ़ी। मैं कभी किसी को गाली नहीं दूंगा। मैं उस पोस्ट को डिलीट करना चाहता था, लेकिन फेसबुक ने ब्लॉक कर दिया है। मैं अगले 24 घंटे तक फेसबुक अकाउंट नहीं खोल सकता।”

इस घटना से प्रभावित सभी पत्रकारों ने बीजेपी के दफ्तर के सामने विरोध प्रदर्शन करने की ठानी है|

नोट: क्या ऐसी मानसिकता के साथ बीजेपी के नेता देश का नेत्रत्व कर सकते है? अपना जवाब कमेंट बॉक्स में शेयर करे 

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment