≡ Menu

Video: गरीबों को कंबल बांटने के दौरान यूपी के बीजेपी मंत्रियों में हुई जानवारों जैसी लड़ाई

बीजेपी के सत्ता में आने का जो मन्त्र था वो आज पार्टी के सांसद बखूबी इस्तेमाल कर रहे है| किसी भी योजना को जब पार्टी लॉन्च करती है तो उसका ज़बरदस्त प्रचार करती है और ऐसा ही कुछ देखने को मिला उत्तर प्रदेश में| गरीबो में कम्बल वितरण के समय बीजेपी के सांसद और विधायक चप्पल लेकर भीड़ गये| पहले तो उनके समर्थक ही लड़ रहे थे लेकिन बाद में तो खुद सांसद और विधायक ही भीड़ गये|source

सरकार बनने के बाद से ही पार्टी काम से ज्यादा दिखावे के लिए जानी गयी है और इसी के चलते इनके नेताओ में लडाई हो गयी|

बीजेपी के सासंद और विधायक के बीच लडाई की शुरुवात कैसे हुई?source

मामला उत्तर प्रदेश के सीतापुर का है जहाँ भारतीय जनता पार्टी के सांसद और विधायक के समर्थक कम्बल बांटने के दौरान शनिवार को आपस में भीड़ गये| मामला इस हद तक बढ़ गया की राजनेता अपनी नेता होने की गरिमा ही भूल गये| धौरहरा से बीजेपी सांसद रेखा वर्मा और महोली से बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी के बीच हाथापाई हो गयी| सांसद रेखा वर्मा जूती उतारकर विधायक शशांक त्रिवेदी पर टूट पड़ी|source

बीजेपी कार्यकर्ता आपस में भिड़े

सीतापुर की महोली तहसील कार्यालय ने कम्बल वितरण कार्यक्रम आयोजित किया हुआ था| इस कार्यक्रम में रेखा वर्मा मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित थी| इस दौरान विधायक शशांक त्रिवेदी भी अपने दर्जनोंभर समर्थको के साथ कार्यक्रम में पहुच गये| उन्होंने अपने समर्थको को भी उस जगह पे बुला लिया और सांसद के बगल में बैठ गये| सांसद को यह बात ठीक नही लगी तो उसने विरोध किया, लेकिन विधायक ने कह दिया की क्षेत्रीय जनता है किसी को अंदर आने से रोका नही जा सकता| और इस तूतू मैं मैं से शुरू हुआ जूतमपैजार|source

झगड़े के दौरान विधायक के गनर ने सांसद के समर्थको को पीट दिया| इस वजह से सांसद का पारा चढ़ गया और उसने अपना चप्पल उतारकर एसडीएम और विधायक की ओर फेक दिया| इस मामले में विधायक और सांसद दोनों की तरफ से शिकायत दर्ज है|

वीडियो:-

नोट: क्या अब बीजेपी नेता राजनेता होने की गरिमा ही खो बैठे है? क्या इस प्रकार के शिष्टाचार इस देश की सेहत के लिए उचित है? अपना जवाब जरूर बताये!

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment