≡ Menu

अगर सच में सर्जिकल स्ट्राइक हुई होती तो .. पढ़िए क्या होता

क्या आपको आजतक मेरी तरह यह लगता आ रहा है कि मोदी जी और भाजपा द्वारा प्रचारित सर्जिकल स्ट्राइक सही में हुई थी ? तो कुछ बातें आपके सामने रखना चाहता हूँ, जो मेरे दिमाग में भी बहुत समय से चल रही है |

सच मे सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो क्यों पाकिस्तानी सेना या आतंकवादियों की लाशें पाकिस्तानी चैंनलों पर दिखाई नहीं दीं? क्यों पाकिस्तानी बेवाओं का विलाप नहीं दिखा? क्यों मासूम बच्चे अपने पापा के लिए बिलखते नज़र नहीं आए?

अगर सच में सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी, तो पाकिस्तान कि दोबारा हिम्मत कैसे हो गयी हमारे जवानों के सर काटने की ?

Video : BJP प्रवक्ता संबित पात्र ने शहीद कि पत्नी को कहा झूठ, अब हो रही है थू-थू !

क्या पाकिस्तान को डर नहीं हैं कि इंडिया फिर से कुछ ऐसा कर सकता है उसके साथ जिससे उसे बहुत नुकसान होगा और बदनामी होगी ?

अक्सर सर्जिकल स्ट्राइक जैसे ऑपरेशन्स बहुत गुप्त तरीके से किये जाते हैं | मगर मोदी जी ने इसका पूरा राजनीतिक फायदा उठाने के लिए खुल्ले में बता दिया |

अब अगर आपने बता ही दिया तो कम से कम एक फोटो तो दिखाइए, जिसमें यह साबित हो जाए कि हाँ हमने सच में बदला ले लिया है |

अब कई लोग कहेंगे कि आपको शर्म नहीं आती ? हमारी देश कि सेना के ऊपर सवाल खड़ा करते हो ? आपको तो पाकिस्तान चला जाना चाहिए आदि |

मगर जनाब मैं सवाल नहीं उठा रहा | बस थक गया हूँ अपने जवानो कि लाशें और अंतिम संस्कार देख – देख कर | कम से कम दुश्मनों कि एक लाश तो दिखाओ ताकि मेरे जी को सुकून मिले |

अब आप कहेंगे वो कैमरा लेकर थोड़ी घूमेंगे | तो आपको बता दूँ कि जो कमांडो सर्जिकल स्ट्राइक करने गए थे उनके हेलमेट पर बहुत अच्छी क्वालिटी का कैमरा लगा होता है | तो पुरे ऑपरेशन कि वीडियो है मगर सरकार जारी नहीं करना चाहती | क्यों ? कारण तो सरकार ही जाने |

Video : BJP नेता राजनाथ सिंह ने जवान से बंधवाये अपने जूते !

यानी हर बार वो हम पर हमला करें, हम टीवी पर अपने जवानो कि अंतिम यात्रा देखें फिर अचानक से खबर आए कि हमने बदला ले लिया है | सबूतों के नाम पर कुछ भी न हो क्यूंकि सरकार और सेना के अफसरों ने खुद बताया है तो अंधे बनकर विश्वास कर लो चुपचाप | अगर सवाल उठाओगे तो देशद्रोही माने जाओगे |

सेना के अफसर भी तो सरकार के अंदर ही आते हैं ना ? क्या उनके ऊपर दबाव बनाकर उनसे कोई भी बयान नहीं दिलवाया जा सकता ताकि राजनीतिक फायदा उठाया जा सके ?

अब हमारे सेना के जवानो के सर काट दिए गए | उनकी हालत ऐसी है कि उनके घरवालों को अंतिम-दर्शन भी नहीं करने दिया गया | अगले दिन खबर आती है कि पाकिस्तान से बदला ले लिया गया है उनकी चौकियां तबाह कर दी गयी, जवान मार दिए गए इत्यादि | सबूत के नाम पर सिर्फ सुनने वाली खबरें हैं, देखने को कुछ नहीं हैं |

बचपन में हमें सिखाया गया था कि सिर्फ सुनी हुई बातों को मत मानो | क्या हम वो भूल गए सिर्फ भक्ति में ? अगर पाकिस्तानी मीडिया कल को यह प्रचार करना शुरू कर दे कि उसने इंडिया पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दी, तो आप सबूत मांगेंगे ना ? अरे भाई, ऐसे कैसे मान लें | यहाँ तो सब सही है | तो हम अपनी सरकार से क्यों नहीं मांग सकते ? क्या हम अपनी सरकार और व्यवस्था पर सवाल ही नहीं उठा सकते ?

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment