≡ Menu

Video: ड्यूटी निभा रहे दलित SHO ने ब्राह्मण सभा से मांगी माफी, SP ने जो कुछ कहा सुन नहीं पाएंगे आप

वसुंधरा राजे की सरकार में अब एक ऐसा दिन देखना पड़ रहा है जहाँ कानून के रखवाले को अपनी ड्यूटी निभाने के लिए भी माफ़ी मांगनी पड़ रही है| अब इसे गुंडाराज कहे या तानाशाही शब्द दोनों ही फिट बैठ रहे है|source

पुलिस की सरेआम की पिटाई

आलम यह है की पुलिस अफसर को एक अपराधी की तरह घसीट घसीट कर पीटा गया और उससे माफ़ी मंगवाई| इतना सब होने के बावजूद अभी तक वसुंधरा राजे की तरफ से कोई बयान नही आया| क्या अब बीजेपी के राज में कानून का पालन करना भी गुनाह के दायरे में आता है?source

इस सन्दर्भ में एक न्यूज़ वेबसाइट लिखता है

“बात-बात पर आरक्षण के नाम से जिनकी छापी फटने लगती है, उन्होंने अपनी पंडिताई के खातीर खड़ाऊ के नीचे कानून को मसल डाला। एक SHO को कॉलर पकड़कर सड़क पर दौड़ाया भी और भी बीच सभा में माफी भी मंगवाइ।”

क्या है पूरा मामला?

हाल ही में एक ब्राह्मण संस्था एक कार्यक्रम के दौरान फरसा लेकर चल रही थी जो कहीं न कहीं हिंसक गतिविधियों का प्रतीक है| लोगो को इस तरह से फरसा लिए देख कर वह के एसएचओ ने भीड़ को रोकने की कोशिश की| कहीं कोई हिंसक घटना न हो जाये इस डर से एसएचओ इंद्रराज मरोड़िया ने भीड़ के हाथ से फरसा लेने की कोशिश की लेकिन लोग भड़क गये|source

दलित SHO को ब्राह्मणों ने पीटा

भडकी हुई भीड़ यह भूल गयी की वो एक एसएचओ से बात कर रही है और अपना आपा खोते हुए उन्होंने एसएचओ के साथ जमकर मारपीट की इसके बाद ब्राह्मण संस्था ने थाने के बहार प्रदर्शन भी किया| लेकिन सोचने वाली बात यह है की लोगो को आखिर इतना बल कहा से मिलता है की वो पहले तो गैर कानूनी काम करे और इसके बाद पुलिस वाले के साथ मार पीट?

अपनी सफाई में ब्राह्मण संस्था ने कहा “सड़कों पर उनके द्वारा किए जा रहे दंगे में पंडिताई खोजिए गुंडागर्दी नहीं। क्योंकि वैदिक हिंसा, हिंसा नहीं होती!”

इस घटना के बाद से ही सोशल मीडिया में लोग कहने लगे की वसुंधरा राजे की सरकार में गुंडाराज कुछ ज्यादा ही तेज़ी से पनप रहा है| मारपीट हुआ, प्रदर्शन भी हुआ लेकिन बात यहाँ खत्म नही हुई| फर्ज निभाने वाले अफसर को हाथ जोड़कर माफ़ी मांगनी पड़ी|source

एसएचओ ने हाथ जोड़कर कहा “मेरी किसी बात से अगर किसी की धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है, तो मैं हाथ जोड़कर माफी मांगता हूं. लेकिन अपनी ड्यूटी कर रहे अफसर को इस तरह से झुकाना ठीक नहीं है”

माफ़ी वाला काम खुद शहर के एसपी राष्ट्ददीप के सामने हुआ जिस दौरान वो वह तने खड़े थे| इस घटना से पता चलता है की कैसे गुंडाराज को बल मिल रहा है| विडियो में आप माफ़ी वाला वाकया देख सकते है |

Video:-

नोट: दोस्तों क्या बीजेपी राज में दलित और पिछड़े वर्ज के साथ अन्याय हो रहा है? हमे अपनी राय निचे कमेंट कर जरूर दें और इस खबर को भी शेयर करे.

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment