≡ Menu

अभी-अभी कर्नाटक में BJP को बड़ा झटका, सात विधायकों ने थामा कांग्रेस का हाथ

कर्नाटक चुनाव के नतीजो ने बताया की कैसे आप जीत के भी हार सकते है और हार के भी जीत सकते है| हमारा इशारा समझने में देर नही लगी होगी आपको| बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है , उसके बाद कांग्रेस और फिर जेडीएस| इन नतीजो से सबको यही लग रहा था की एक बार फिर कांग्रेस का सबसे पुराना किला बीजेपी ढहा देगी लेकिन बाजी पलट गयी|source

खबरे है की, क्योकि बीजेपी वो जादुई नंबर नही छू पाई है इसलिए कांग्रेस ने जेडीएस के साथ हाथ मिला लिया है और सरकार बनाने के मत से राज्यपाल से जल्द ही मिलेंगे| लेकिन इस दौरान जो जो कहानी हुई वो विस्तार से बताते है:

सब नंबर्स का खेल है

104 सीटो के साथ बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है| कर्नाटक में बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार येदुरप्पा ने विधायक दल की बैठक बुलाई है| विधायक दल की बैठक के बाद येदुरप्पा नेता चुने जाने की जानकारी राज्यपाल को देंगे और सरकार बनाने का अधिकारिक दावा पेश करेंगे|source

वही, एचडी देवेगौड़ा की पार्टी जेडीएस की बैठक भी आज है| जेडीएस कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाने का दावा कर रही है| बता दे की कांग्रेस को 78 सीटें मिली है जबकि जेडीएस को सिर्फ 38| अब गेंद राज्यपाल के पाले में है, देखना होगा की वो किसे सरकार बनाने का न्योता देते है|source

बीएस येदियुरप्पा ने कहा है,

“’हम सबसे बड़ी पार्टी हैं और ऐसे में सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए। बीजेपी 100 प्रतिशत सरकार बनाएगी और विधानसभा में बहुमत भी साबित करेगी।’”

ये बाज़ी कांग्रेस कुछ इस तरह से जीत रही है

उधर, राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद सिधारामैया ने कहा ‘कांग्रेस ने बिना शर्त जेडीएस को समर्थन दिया है| गठ्बन्धन की शर्तो पर बाद में फैसला होगा| पहली प्राथमिकता सरकार बनाने की है|’ सिधारामैया ने दावा किया है की उनके पास वो जादुई आंकड़ा है, और निर्दलीय विधायक भी उन्ही के साथ है|source

अगर कांग्रेस और जेडीएस के गठ्बन्धन का दाव चल गया तो जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी कर्नाटक के सीएम बन सकते है| कुमारस्वामी साल 2006 से 2007 तक कर्नाटक के सीएम रह चुके है| स्वामी रामनगरम से तीन बार विधायक रह चुके है| यह सीट स्वामी का गढ़ मआणि जाती है| कुमारस्वामी 2 बार लोकसभा सांसद भी रह चुके है|

बीजेपी के 7 विधायक हुए कांग्रेस में शामिल?

इसी बीच बीजेपी को एक ओर झटका मिल गया है. दरअसल, सूत्रों के हवाले से खबर हैं कि कांग्रेस ने बीजेपी के सात विधायकों को पार्टी में शामिल कर लिया है.

बिलकुल सही सुना दावा ये है कि, बीजेपी के कई विधायक बीते कई दिनों से पार्टी से इसलिए नाराज चल रहे थे क्योंकी उन्हें चुनावों के दौरान नजर अंदाज किया गया था ऐसे में अब उन्होंने सही मौका पाते ही कांग्रेस का हाथ थाम लिया है.

हालाकी अभी बीजेपी और कांग्रेस की तरह से इस बात की कोई भी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नही हुई है.

नोट: दोस्तों आपको क्या लगता है राज्यपाल को किसको सरकार बनाने का मौका देना चाहिए? हमे अपनी राय निचेकोम्मेंट कर जरुर बताएं और इस खबर को भी शेयर करे.

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment