≡ Menu

मोदी सरकार ने अपनी नाकामयाबियों को छुपाने के लिए लिया ये बड़ा फैसला !

देश में फ़ैल रही बेरोज़गारी, बेरोज़गारों और विपक्ष के हमलों से घिरी हुई मोदी सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला ले लिया है ! इस फैसले के बाद हो सकता है मोदी सरकार को बहुत राहत मिलेगी । मगर देश के हित में ये लिए बिलकुल नहीं हो सकता ।

दरअसल, मोदी सरकार ने एक फैसला लिया है जिसके बाद अब से बेरोज़गारी से जुड़े आंकड़ें सामने नहीं आएंगें । सरकार ने बेरोज़गारी के आंकड़ों को बताने वाले सर्वे को ही बंद करवा दिया है ।

रोज़गार का आखिरी सर्वे सितम्बर 2016 में जारी हुआ था । इसकी वजह से मोदी सरकार की काफी फजीहत हुई थी । मोदी सरकार को विपक्ष से लेकर मीडिया का एक धड़ा बेरोज़गारी के मुद्दे पर लगातार घेरता आया है । क्योंकि 2014 में BJP ने जनता से वादा किया था सत्ता में आई तो 2 करोड़ रोज़गार हर साल मुहैया करवाएगी ! जिसे पूरा करने में BJP पूरी तरह नाकाम रही है ! ऊपर से मोदी जी के पकोड़े वाले ब्यान ने जनता को और आग बबूला कर दिया था ।

अंदाजा लगाया जा रहा है की इन्हीं कारणों की वजह से श्रम मंत्रालय ने फैसला लिया है की वो ना अब तो ये सर्वे करवाएगी और ना ही इनके आँकड़े जनता के सामने आने देगी । इसका सीधा मतलब यही है की देश को पता ही नहीं चलेगा की बेरोज़गारी किस चरम पर है । और ना ही सरकार से इस बारे में सवाल पूछे जा सकते हैं !

ये फैसला अपने आप में सवाल ज़रूर खड़े करता है की आखिर ऐसी क्या वजहें हैं की सरकार नहीं चाहती, बेरोज़गारी से जुड़े आँकड़े जनता के सामने आएं !

देखिये वीडियो

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment