≡ Menu

कांग्रेस नेता ने ये क्या कह दिया स्मृति ईरानी – मोदी के सम्बन्धो के बारे में ?

बीजेपी नेता स्मृति ईरानी को हाल ही में सूचना प्रसारण मंत्रालय से हटा दिया गया है और उनके पास अब सिर्फ कपड़ा मंत्रालय ही रह गया है| बहरहाल कई बार लोगो सवाल उठाते है की स्मृति द्वारा इतनी बार चुनाव हारे जाने के बावजूद भी उन्हें केंद्र मंत्रिमंडल में क्यों शामिल किया गया है? नरेन्द्र मोदी द्वारा स्मृति ईरानी को इतना आगे क्यों बढ़ाया जा रहा है?

बहरहाल, इसमें कोई दोराय नही की स्मृति सबसे मजबूत नेता है भाजपा की और कई बार वो पार्टी का बेहतर तरीके से बचाव करते भी नज़र आती है| लेकिन इन्ही सवालो के मद्देनज़र कांग्रेस के एक नेता ने स्मृति ईरानी और नरेन्द्र मोदी के सम्बन्धो को लेकर बेहद चौका देने वाली टिप्पड़ी कर दी|

मंत्री बनने से पहले स्मृति ईरानी एक टीवी एक्ट्रेस थी

स्मृति ईरानी ने अपने करियर की शुरुवात बतौर टीवी एक्ट्रेस के तौर पे की थी और साथ ही कुछ म्यूजिक एलबम्स मैं भी नज़र आई थी| स्मृति ईरानी को आज भी हिंदुस्तान की घरलू औरते तुलसी के नाम से जानती है| उनका दूसरा नाम तुलसी उनके किरदार से पड़ा है| स्टार प्लस के सीरियल क्योकि सांस भी कभी बहु थी में स्मृति बतौर तुलसी के रूप में सबके सामने आई थी| इसमें उन्होंने एक ऐसी नायिका का किरदार निभाया था जो अपने परिवार को जोड़ के रखती है|

इसके बाद स्मृति और भी कुछ सीरियल मैं नज़र आई थी लेकिन जल्द ही उन्होंने राजनीति का रुख कर दिया था| पहले वे एक कार्यकर्ता के तौर पर बीजेपी से जुडी थी और बाद में चुनाव लड़ते हुए उन्होंने बीजेपी में एक बहुत बड़ी जगह हासिल की|

कांग्रेस के नेता के इस बयान से मच गया था हडकम्प

असम में कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री नीलमणि ने कहा की कई लोग ऐसा कहते है की स्मृति ईरानी नरेन्द्र मोदी की दूसरी पत्नी है| नीलमणि के इस बयान के बाद बीजेपी ने इसे शर्मनाक बताते हुए उन पे मुकदमा दर्ज करने की बात कही| News Source : Patrika

भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि क्या एक महिला के नेतृत्व वाली पार्टी महिलाओं के लिए ऐसी सोच रखती है और बावजूद ऐसे बयान के उनका बचाव किया जा रहा है। राम माधव ने कहा कि भाजपा जल्द ही नीलमणि के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज करेगी। वहीं कांग्रेस की ओर से अभी तक इस बयान पर कोई भी टिप्पणी नहीं आयी है।

नोट: दोस्तों क्या स्मृति ईरानी पे इस तरह के बयानों में कोई भी सच्चाई है? या फिर ये एक गलत मानसिकता का उदाहरण है? हमे अपनी राय निचे कमेंट कर जरूर दें और इस खबर को भी शेयर करे.

Related Posts

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment